आधार कार्ड में अपना मोबाइल नंबर कैसे अपडेट करें?

क्या आपके मोबाइल नंबर पर एलपीजी गैस सब्सिडी जैसी सेवाओं का मैसेज नहीं मिल रहा है? क्या आधार कार्ड होने के बावजूद आप सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं ले पाए हैं? क्या आप आधार कार्ड वेरिफाई नहीं कर पा रहे हैं? अगर आप आधार कार्ड से ऑनलाइन वेरिफिकेशन नहीं कर पा रहे हैं, तो हो सकता है कि आपका मोबाइल नंबर आधार कार्ड से नहीं जुड़ा हो. यह भी हो सकता है कि आधार कार्ड से जुड़ा मोबाइल नंबर सही नहीं हो.

  • आपका मोबाइल नंबर आधार से जुड़ा है या नहीं, यह पता करने के लिए इस लिंक पर जाएं: https://resident.uidai.gov.in/verify-email-mobile

अगर आधार कार्ड से मोबाइल नंबर जुड़ा होने पर भी आपको ओटीपी नहीं मिलता है, तो अपने मोबाइल की सेटिंग बदलें या मोबाइल ऑपरेटर से संपर्क करें.

आधार कार्ड को मोबाईल नंंबर से जोड़ना क्यों ज़रूरी है?

सरकारी और प्राइवेट सेवाओं, सब्सिडी लाभों, पेंशन, छात्रवृत्ति, बैंकिंग सेवाओं, बीमा सेवाओं, टैक्स, स्वास्थ्य सेवाओं जैसे कि कोविड के लिए रजिस्ट्रेशन के लिए ज़रूरी है कि आपका आधार, आपके मोबाइल नंबर से जुड़ा हो. जब आप आधार का इस्तेमाल, अपनी पहचान को पक्का करने के लिए करते हैं, तब आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाता है. आधार से मोबाइल नंंबर नहीं जुड़े रहने पर इससे आपकी पहचान की पुष्टि नहीं हो पाती है. ऐसे में आपको योजनाओं और सेवाओं का लाभ नहीं मिल पाता है. वहीं, आधार से मोबाइल नंबर जुड़ा होने पर आसानी से आपका काम हो जाता है.

इसके साथ ही, आधार कार्ड से मोबाइल नंबर जुड़ा रहने पर आप अपने मोबाइल फ़ोन में ही आधार को डाउनलोड कर सकते हैं. इससे आपको आधार कार्ड हमेशा रखने की ज़रूरत नहीं रह जाती है.

आधार पर दर्ज पते में बदलाव करने के लिए भी आधार का मोबाइल नंबर से जुड़ा होना ज़रूरी है.

आधार को मोबाइल नंबर से कैसे जोड़ें?

अपने आधार कार्ड में मोबाइल नंबर अपडेट करने के लिए आपको नजदीक के Permanent Enrolment centre(PEC) यानी आधार केन्द्र पर जाना होगा. इस लिंक पर जाकर आप नजदीकी आधार केन्द्र का पता लगा सकते हैं: https://appointments.uidai.gov.in/easearch.aspx

आप ऑनलाइन तरीके से आधार कार्ड को अपने मोबाइल नंबर से नहीं जोड़ सकते.

आधार केन्द्र में मोबाइल नंबर अपडेट करने के लिए वहां पहुंचकर आवेदन देना होता है. आप भारत के किसी भी आधार केन्द्र पर जाकर आवेदन कर सकते हैं. मोबाइल नंबर अपडेट करने का चार्ज 25 रुपया है. नया नंबर अपडेट होने में 90 दिन लग सकते हैं.

आधार केन्द्र जाने के बाद,

  • स्टेप 1: आधार कार्ड करेक्शन फ़ॉर्म भरें
  • स्टेप 2: फॉर्म पर अपना वह मोबाइल नंबर डालें जो आपके पास हो
  • स्टेप 3: अपना बायोमेट्रिक, जैसे कि पुतली और अंगुली के निशान दें
  • स्टेप 4: पावती रसीद जरूर लें

पावती रसीद पर एक नंबर (यूआरएन) मिलता है. आप आधार की वेबसाइट पर जाकर यूआरएन से पता कर सकते हैं कि आपका मोबाइल नंबर आधार से जुड़ गया है या नहीं. आप चाहें तो आधार के टॉल फ्री नंबर 1947 पर कॉल करके भी अपने आवेदन की स्थिति जान सकते हैं.

मोबाइल नंबर अपडेट होने के बाद आपको नया आधार कार्ड नहीं दिया जाता है.

आप चाहें तो एक ही मोबाइल से अपने परिवार के दूसरे सदस्यों के आधार को भी जोड़ सकते हैं.